सुदेवा ने स्पेनिश क्लब खरीदकर रचा इतिहास

दिल्ली : खेलरत्न, सं, Time, 12:20, PM.
दिल्ली के सुदेवा फुटबॉल क्लब ने स्पेनिश लीग के तीसरे डिवीजन के क्लब सीडी ओलंपिक डी जटिवा क्लब खरीदकर इतिहास रच दिया है। यूरोपियन फुटबॉल क्लब खरीदने वाला सुदेवा एफसी पहला भारतीय क्लब बन गया है। सुदेवा क्लब के सह संसथापक अजय गुप्ता, विजय हकारी और मनन अधलाका ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी।

football 3
अनुज गुप्ता ने बताया कि सी डी ओलिंपिक डी जटिवा को खरीदने की होड़ में 11 दावेदार शामिल थे और एक प्रक्रिया से गुज़रने के बाद सुदेवा और कोलंबिया के क्लब के बीच अंतिम दावेदारी रह गई थी। सुदेवा के पक्ष में 81 वोट पड़े जबकि कोलंबिया के क्लब के पक्ष में मात्र सात वोट पड़े। इस तरह 1932 में स्थापित क्लब को सुदेवा ग्रुप ने अधिग्रहण किया। सी डी ओलिंपिक डी जटिवा क्लब वेलेंशिया शहर से 25 मिनट की दूरी पर स्थित है और इसके पास पहली टीम, रिजर्व टीम, तीन अंडर-19 टीम, दो अंडर-16 टीम और कई अंडर-15 टीमें है। अनुज ने बताया कि इस अधिग्रहण के बाद भारतीय प्रतिभाओं के लिये खुद को स्पेनिश लीग क्लब में जाकर तराशने का मौका मिल जाएगा और इसके साथ ही सुदेवा ने खुद को अंतरराष्ट्रीय क्लब बनाने की दिशा में मजबूती से कदम बढ़ा लिया।

स्पेनिश लीग में चार स्तर की टीमें खेलती हैं
स्पेनिश लीग में चार स्तर की टीमें खेलती हैं। प्रीमियर डिविजन में ला लीगा टूर्नामेंट आयोजित होता है। इसमें 20 टीमें भाग लेती हैं। प्रत्येक वर्ष नीचे की तीन टीमें सेगेंडा डिवीजन में चली जाती हैं। वहीं सेगेंडा डिवीजन की दो टॉप की टीम और प्ले ऑफ से जीतकर आने वाली एक टीम को ला लीगा में प्रवेश दिया जाता है। वहीं सेगेंडा डिवीजन दूसरे स्तर का टूर्नामेंट है। इसमें 22 टीमें भाग लेती हैं। तीसरे स्तर का टूर्नामेंट सेगेंडा डिवीजन बी है, जिसमें ओलंपिक डी जटिवा क्लब भी शामिल है। इसमें चार समूह में 80 टीमें भाग लेती हैं। प्रत्येक समूह की चार टॉप टीमों को प्ले ऑफ खेलने का मौका मिलता है। इसमें बेहतर प्रदर्शन करने वाली टीमों को सेगेंडा डिवीजन में प्रवेश दिया जाता है। चौथे स्तर का टूर्नामेंट टेरसेरा डिवीजन कहलाता है। इसमें 360 टीमें भाग लेती हैं। जो 18 क्षेत्रीय समूह में विभाजित होती हैं। इनमें बेहतर प्रदर्शन करने वाली टीमें को सेगेंडा डिवीजन बी में स्थान मिलता है।

2014 में सुदेवा क्लब बनाया गया         
सुदेवा ग्रुप की स्थापना 2014 में की गई थी। 2016 में इसने दिल्ली स्थित सीनियर डिवीजन क्लब मूनलाइट का अधिग्रहण किया था। सुदेवा मूनलाइट क्लब ने 2016-17 सत्र में आई लीग की दूसरी डिवीजन में हिस्सा लिया। इस क्लब की दिल्ली में अपनी आवासीय फुटबाल अकादमी भी है।

ओलंपिक डी जटिवा ने दिए छह अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी
ओलंपिक डी जटिवा की ओर से खेलने वाले छह खिलाड़ियों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी अपना मुकाम हासिल की है। इसमें से इडविन कांगो, एलबर्टो, राउल फैबियानो, नाटा, एंजेल गायराडो और फ्रांसिस शामिल हैं। एडविन कोलंबिया की राष्ट्रीय टीम से 17 मैच खेल चुके हैं। यह स्ट्राइकर रहे हैं। एलबर्टो एक्वाटोरियल गुयाना से 5 मैच खेले चुके हैं। यह फारवर्ड के खिलाड़ी हैं। फैबियानो भी इसी देश के फारवर्ड खिलाड़ी रहे हैं। उन्होंने 11 मैच खेले। इनके अलावा अन्य फुटबॉलरों ने भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दम दिखाया है।

Leave a Reply