रैंकिंग टूर्नामेंट में बेहतर प्रदर्शन करने वाले शटलर ही राज्य प्रतियोगिता खेल पाएंगे

नोएडा। ,खेलरत्न, सं : Time, 10:50 PM.
पहली बार खेली जा रही जिला रैंकिंग बैडमिंटन प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन करने वाले शटलर ही राज्य और राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग ले पाएंगे। पहली बार जिला रैंकिंग प्रतियोगिता की शुरुआत दो दिन पहले से ग्रेटर नोएडा में हुई। प्रतियोगिता का खिताबी मुकाबला सोमवार को खेला जाएगा। पांच आयुवर्ग में खिलाड़ी दमखम दिखा रहे हैं।

bad rr
file photo

अब तक जिला चैंपियनशिप के आधार पर खिलाड़ियों का चयन होता था। अभ्यास में बेहतर प्रदर्शन के आधार पर भी खिलाड़ी राज्य प्रतियोगिता में भाग लेते थे, लेकिन अब प्रत्येक साल जिला स्तर पर तीन रैंकिंग प्रतियोगिता होगी। इसमें बेहतर प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को ही प्रदेश बैडमिंटन प्रतियोगिता में खेलने का मौका मिलेगा। इस प्रतियोगिता में खिलाड़ियों को अंक दिए जाएंगे। जिसके आधार पर उनकी रैंकिंग बनेगी। खिताब जीतने वाले खिलाड़ी को चार अंक मिलेगा। उपविजेता को तीन अंक दिए जाएंगे। सेमीफाइनलिस्ट को दो और क्वार्टर फाइनलिस्ट को एक-एक अंक मिलेंगे। राज्य प्रतियोगिता में चार-चार खिलाड़ी प्रत्येक वर्ग में भेजे जाते हैं। रैंकिंग के आधार पर टॉप चार खिलाड़ी प्रतियोगिता में भाग लेंगे। जिला रैंकिंग प्रतियोगिता में अंडर-11, 13, 15, 17, 19 के लड़के और लड़कियां भाग ले रही हैं। जिले भर से 230 शटलर प्रतियोगिता में दमखम दिखा रहे हैं। खिताबी मुकाबले के अंडर-11 में लविश भाटी और अर्नव यादव भिड़ेंगे। अंडर-13 में लक्षित गर्ग और विभास अग्रवाल आमने सामने होंगे। लड़कियों के अंडर-15 में रागनी और सानवी फाइनल में खेलेंगी। अंडर-19 का फाइनल सोनाली सिंह और कृतिका भट्ट के बीच होगा। लड़कों के वर्ग में चिराग सेठ और मुकुल तेवतियां भिड़ेंगे।
जिला बैडमिंटन संघ के सचिव आनंद खरे ने बताया कि इस व्यवस्था के लागू होने से खिलाड़ियों की चयन प्रक्रिया पूरी तरह से पारदर्शी होगी। रैंकिंग प्रतियोगिता में जिनका बेहतर प्रदर्शन होगा वे राज्य और राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग लेंगे। इसी साल से यह व्यवस्था लागू कर दी गई है।

Leave a Reply