‘कश्मीर में पाबंदियों से मजबूत हुई रीयल कश्मीर फुटबॉल टीम’

नई दिल्ली। खेलरत्न/एजेंसी : Time, 9:00, PM.
जम्मू कश्मीर में धारा 370 के अधिकतर प्रावधानों को हटाने के बाद प्रतिबंधों के कारण आम लोगों का जीवन भले ही प्रभावित हुआ होगा, लेकिन आई लीग की टीम रीयल कश्मीर के लिये यह स्थिति फायदेमंद साबित हुई। इससे उसके खिलाड़ियों को एक दूसरे को अच्छी तरह से समझने में मदद मिली।

 

Real Kashmir

खेल सामग्री बनाने वाली कंपनी एडिडास ने मंगलवार को यहां रीयल कश्मीर के घरेलू मैचों की जर्सी लान्च की। टीम के सह मालिक संदीप चट्टू , कोच डेविड रोबर्टसन के साथ मोहम्मद हम्माद और कैलम हिग्गिनबाथम उपस्थित थे। टीम के सह मालिक संदीप चट्टू और मुख्य खिलाड़ियों में शामिल मोहम्मद हम्माद ने इस मौके पर कहा कि कश्मीर में पाबंदियों के समय इंटरनेट और फोन पर लगी रोक के कारण खिलाड़ियों को एक दूसरे को अच्छे से समझने में मदद मिली जिसे टीम और मजबूत हुई है। संदीप चट्टू ने बताया कि कश्मीर में पाबंदियों के कारण खिलाड़ियों और कोचिंग सदस्यों को अधिकतर समय होटल के अंदर ही बिताना पड़ता था। जहां फोन और इंटरनेट की सुविधा भी नहीं थी। इससे वास्तव में टीम को फायदा हुआ, क्योंकि बाहरी संपर्क नहीं होने के कारण टीम के खिलाड़ी आपस में एक दूसरे से फुटबाल के बारे में चर्चा करते थे।

टीम के स्थानीय खिलाड़ी हम्माद ने कहा कि यह सच है कि कश्मीर में पाबंदियों के कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा, लेकिन विषम परिस्थितयां टीम के लिए फायदेमंद रही। इस दौरान हमें खेल पर चर्चा करने और उसे मैदान पर उतारने का समय मिला। पाबंदियों के कारण हम एक दूसरे साथ ही रहते थे तो हमारे बीच परिवार की तरह का संबंध बन गया। टीम का पूरा ध्यान आईलीग पर है जहां हम पिछली बार की कमियों में सुधार कर खिताब जीतने की कोशिश करेंगे। पिछले सत्र में टीम के शानदार प्रदर्शन के बारे में पूछे जाने पर चट्टू ने कहा कि पुलवामा हमला नहीं होता तो टीम अपने पहले अभियान में ही चैम्पियन बन सकती थी।
उन्होंने कहा कि ‘ पिछले सत्र में पुलवामा हमले से पहले हम खिताब की दौड़ में थे, लेकिन हमले के कारण हम तीन सप्ताह तक अभ्यास नहीं कर सके। मिनर्वा पंजाब ने कश्मीर के हमारे घरेलू मैदान पर खेलने से मना कर दिया। ईस्ट बंगाल के खिलाफ हमें दिल्ली में खेलना पड़ा। अगर पुलवामा हमला नहीं होता तो हम खिताब जीत सकते थे। इसके बाद भी पहले सत्र में ही हमने चेन्नई जैसी मजबूत टीम को घरेलू और बाहर के मैचों में हराया था। इस प्रदर्शन पर हमें गर्व है। तीसरे स्थान पर रहकर भी हम खुश थे।

Leave a Reply