स्पेनिश फुटबॉल क्लब पालामोस सीएफ में चयनित हुए शहर के प्रियम

नोएडा। खेलरत्न, सं : Time, 8:30, PM.
पूर्व अंतरराष्ट्रीय दिग्गज क्रिकेटर आशीष नेहरा और आईपीएल में केकेआर का हिस्सा रहे नितेश राना के रिश्तेदार प्रियम राना ने भी बड़ी उपलब्धि हासिल की है। वह स्पेन के ला लिगा फुटबॉल टूर्नामेंट में पालामोस सीएफ का हिस्सा होंगे। अंडर-15 वर्ग में उनका चयन इस टीम के लिए किया गया है। वह दो साल तक स्पेन में ही रहकर पढ़ाई भी करेंगे।

anadi
प्रियम के साथ पूर्व अंतरराष्ट्रीय फुटबॉलर और प्रशिक्षक अनादि बरुआ

सेक्टर-37 निवासी प्रियम राना दो साल के लिए स्पेन के इस क्लब से दमखम दिखाएंगे। मध्यपंक्ति का यह खिलाड़ी सब जूनियर वर्ग में दिल्ली टीम का प्रतिनिधित्व करता है। छह साल की उम्र से फुटबॉल की ओर प्रियम का रुझान था। 11 साल की उम्र में यह खिलाड़ी दो बार जर्मनी में भी खेल चुके हैं। लेफ्ट फुटर प्रियम से स्पेनिश लीग में बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद की जा रही है। बाराखंभा दिल्ली स्थित मॉडर्न स्कूल में नौवीं कक्षा का यह छात्र नोएडा स्टेडियम में खेल की बारीकियां सीख रहे हैं। राष्ट्रीय स्तर की एक स्कूल प्रतियोगिता में वह श्रेष्ठ फुटबॉलर भी बन चुके हैं। उनके पिता प्रवीण राना भी विश्वविद्यालय स्तर के खिलाड़ी रहे हैं। उन्होंने बताया कि पालामोस सीएफ क्लब स्पेन का तीसरा सबसे पुराना क्लब है। ऐसे क्लब से बेटे का खेलना बहुत बड़ी उपलब्धि है। प्रियम कड़ी मेहनत कर रहा है। दो साल तक खेल के साथ ही वहीं उसकी पढ़ाई भी होगी। फुटबॉल से उसके लगाव का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि भारत में हुए अंडर-17 विश्वकप के सभी मैच प्रियम ने देखे।

priyam
नोएडा स्टेडियम में प्रियम राना

नितेश राना और आशीष नेहरा हैं प्रियम के रिश्तेदार
कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाड़ी नितेश राना और पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर आशीष नेहरा प्रियम के रिश्तेदार हैं। आशीष नेहरा प्रियम के मामा हैं। वहीं नितेश राना रिश्ते में चचेरा भाई हैं। प्रियम के पिता भी विश्वविद्यालय स्तर तक विभिन्न खेलों में प्रतिनिधित्व किया।

जन्म दिन पर केक की जगह फुटबॉल शूज खरीदे
प्रियम राना का फुटबॉल से बेहद लगाव है। उन्होंने अपने जन्म दिन पर केक खरीदने की जगह फुटबॉल बूट को प्राथमिकता दी। क्रिस्चियानो रोनाल्डो उनके पसंदीदा खिलाड़ी हैं। एक बार उनका फोटो नीचे गिर गया तो उन्होंने उसे तुरंत उठाया और कहा कि यह तो मेरा भगवान है। उनके घर में फुटबॉल के सभी टूर्नामेंट देखे जाते हैं।

स्पेनिश लीग में भारत के सबसे कम उम्र के पहले खिलाड़ी
इनके स्थानीय प्रशिक्षक और पूर्व अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी अनादि बरुआ ने बताया कि प्रियम देश स्पेनिश लीग खेलने वाले देश के सबसे कम उम्र के फुटबॉलर हैं। वर्तमाना में उनकी उम्र 14 वर्ष है। यह एक शानदार फुटबॉलर हैं। दिल्ली के साथ ही राष्ट्रीय स्तर की कई प्रतियोगिता में शानदारा प्रदर्शन कर चुके हैं। पालामोस क्लब की स्थापना 1898 में हुई थी। स्पेनिश लीग में लियोन मेसी सहित कई नामी फुटबॉलर खेलते हैं।

Leave a Reply