क्रिकेट की अलग दुनिया है आईपीएल : शिवम मावी

-टूर्नामेंट के दौरान मेरी गेंद पर कई कैच छूटे, इससे निराश पर हताश नहीं
-अनुभवी क्रिकेटरों के साथ खेलने से काफी सीखने को मिला
नोएडा। खेलरत्न, सं, Time, 11:40, PM.
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) क्रिकेट की एक अलग दुनिया है। जहां देश-विदेश के अनुभवी खिलाड़ियों के साथ खेलने का मौका मिलता है। इससे मेरे जैसे नए क्रिकेटर काफी सीखते हैं। मेरे लिए भी पहला आईपीएल सकारात्मक पहलुओं से भरा रहा। यह बातें कोलकाता नाइट राइडर्स के तेज गेंदबाज शिवम मावी ने आईपीएल के बारे में कहा। उन्होंने खेलरत्न डॉट ओआरजी से खास बातचीत में इस टूर्नामेंट में बिताए एक महीने से अधिक समय की रोचक बातें साझा की। उन्होनें नौ मुकाबलों में 5 विकेट झटके।

shivam 3 2

अपनी मां और बहन के साथ शिवम

सेक्टर-52 निवासी शिवम मावी ने बताया कि आईपीएल में हर नए क्रिकेटर के काफी कुछ है। सबसे अहम पहलू अनुभवी क्रिकेटरों के साथ खेलना। जिससे मुझे बहुत फायदा हुआ। धोनी से मुलाकात अच्छी रही। उन्होंने मुझे कई बारीकियां भी बताई। भुवनेश्वर कुमार ने भी मेरी काफी मदद की। शिवम बताते हैं कि मैं मेहनत करने पर विश्वास करता हूं। अगर आप मेहनत करते हैं तो आपके प्रदर्शन में निखार आता है। कोई भी क्रिकेटर टीम इंडिया (सीनियर) के लिए खेलना चाहता हैं। मेरा भी यही सपना है।

 

 

यहां प्रत्येक गेंद पर दबाव होता है
शिवम मावी बताते हैं कि आईपीएल में अगर आप एक अच्छी गेंद डालते हैं तो दूसरी गेंद भी अच्छा डालने के लिए दबाव होता है, क्योंकि यहां थोड़ी सी गलती का मतलब गेंद बाउंड्री लाइन से बाहर। इसका सीधा असर टीम के प्रदर्शन पर पड़ता है। ऐसे में हर गेंद को फेंकने से पहले रणनीति बनानी पड़ती है।

shivam
shivam mavi

149.86 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से गेंद फेंकी
शिवम ने आईपीएल में अपने करियर की सबसे अधिक तेज गेंद 149.86 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से फेंकी। वह 149 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से अब तक दो गेंद डाल चुके हैं। इससे पहले उन्होंने 146 किमी की रफ्तार से विश्वकप अंडर-19 में गेंद फेंकी थी। वह अपनी रफ्तार और स्विंग से भी प्रभावित कर चुके हैं।

अंगुली में चोट के कारण मैच नहीं खेल पाए
दाहिने हाथ की अंगुली में चोट के कारण वह 4-5 मैच नहीं खेल पाए। इसके बाद ही उन्हें कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम से मैदान में उतारा गया। उन्हें आईपीएल के तीसरे मैच में केकेआर ने टीम में जगह दी थी। उस मैच में उन्होंने प्रभावित किया। चोट से पहले वह प्रत्येक मैच में टीम का हिस्सा रहे। चोट से उबरने के बाद भी उन्हें टीम में स्थान मिला।

shivam cricket

कैप्टन कूल धोनी से ली सीख
चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान और कैप्टन कूल के नाम से मशहूर महेंद्र सिंह धोनी से उन्होंने खेल की बारीकियों के बारे में बातचीत की। उन्होंने अपनी गेंदबाजी से एक मैच धोनी को भी चकमा दिया था। मैच के बाद शिवम मावी धोनी से मिलकर 15 मिनट तक खेल के बारे में बातचीत की। शिवम बताते हैं कि उन्होंने मेरी गेंदबाजी को बेहतर बताया और कड़ी मेहनत की सलाह दी।

फैशन का भी बोलबाला 
शिवम बताते हैं कि आईपीएल में फैशन का भी खूब बोलबाला है। क्रिकेटर अलग-अलग तरीके से बाल रखते हैं। ताकि उनपर लोगों की निगाह पड़ें। मैने भी आखिरी मैच में बाल काफी छोटे करवा लिए थे। रसेल, हार्दिक पांडया सहित कई खिलाड़ी लगातार अपने बालों में परिवर्तन करते रहते हैं। इसलिए उनकी चर्चाएं भी होती हैं।

shivam 4
शिवम मावी

कैच न छूटता तो और विकेट जुड़ते
नोएडा के शिवम बताते हैं कि आईपीएल के मैचों में मेरी गेंद पर 5 कैच छूटे, नहीं तो मुझे और विकेट मिलते। कैच छूटने से गेंदबाज निराश होता है। कई बार नए क्रिकेटरों की गेंदबाजी भी प्रभावित होती है, लेकिन मैं इससे हताश नहीं हूं। भविष्य में भी इसी तरह बेहतर प्रदर्शन करता रहूंगा। आखिरी मैच में मेरी गेंद पर कैच छूटे नहीं तो मैच का पासा भी पलट सकता था।

खेल के बाद पार्टी
सामान्यत: खेल के बाद प्रत्येक रात पार्टी होती है। जिसमें टीम प्रबंधन सहित सभी खिलाड़ी शामिल होते हैं। इसमें टीम से जुड़े सभी लोगों से मुलाकात होती है। आपसी बातचीत भी इस दौरान होती है। मैच से संबंधित रणनीति इस दौरान नहीं बनती। इस दौरान लोग सिर्फ पार्टी का एंजॉय करते हैं। मैच के हार-जीत के बाद ग्राउंड पर थोड़ी बहुत रणनीति बनती है। उस दौरान गलतियों से सीख लेने की सलाह दी जाती है।

 

Leave a Reply