पंद्रह हजार लोग पर एक फुटबॉलर देने वाला आइसलैंड विश्व विजेता आर्जेनटीना से भिड़ेगा

-आइसलैंड को कम नहीं आंकना चाहिए, उलटफेर कर सकता है : अनादि बरुआ
दिल्ली। खेलरत्न, सं, Time, 1:30, PM.
फीफा विश्वकप फुटबॉल में पहली बार शामिल आइसलैंड दो बार के विजेता रहे अर्जेनटीना से अपना पहला विश्वकप मुकाबला खेलेगा। यह मैच विश्वकप के लिए इसलिए भी अहम है कि इस छोटे से देश ने काफी कम समय में खुद को फुटबॉल की बुलंदियों तक पहुंचाया है। इस देश ने 15,248 की जनसंख्या पर विश्व स्तर का एक फुटबॉलर तैयार किया, जो अपने आप में ऐतिहासिक है।

iceland
file photo

 

भारतीय समय के अनुसार साढ़े छह बजे इस देश के लिए ऐतिहासिक पल होगा। आइसलैंड की जनसंख्या महज 3,50,710 है। इसी छोटी सी जनसंख्या से इस देश ने 23 विश्वस्तरीय फुटबॉलर तैयार किए। जो 15,248 जनसंख्या पर एक खिलाड़ी है। दो बार के विश्वविजेता और चार पर उपविजेता रहा अर्जेनटीना के पास करीब 10 लाख की जनसंख्या पर एक विश्व स्तर का फुटबॉलर है। यहां की जनसंख्या 4 करोड़ 38 लाख है। वहीं भारत के पास सवा अरब से अधिक जनसंख्या के बावजूद एक भी विश्वस्तर का फुटबॉलर नहीं है। सुनील छेत्री ने जरुर अपनी थोड़ी बहुत छाप छोड़ी है। ऐसे में इस विश्वकप में बेहतर प्रदर्शन के लिए आइसलैंड के पास अच्छा मौका है। आइसलैंड के चार सालों के प्रदर्शन को देखते हुए अर्जेनटीना इस टीम को हल्के में लेने की भूल नहीं करेगा।

anadi
anadi barua

उलटफेर कर सकता है आइसलैंड : अनादि बरुआ
पूर्व अंतरराष्ट्रीय फुटबॉलर और भारतीय महिला फुटबॉल टीम के पूर्व मुख्य प्रशिक्षक अनादि बरुआ बताते हैं कि आइसलैंड की टीम इस विश्वकप में उलटफेर कर सकती है। यह टीम विश्वकप क्वालीफाइंग मुकाबलों में शानदार प्रदर्शन किया है। टीम ने क्रोएिशया जैसी विश्वस्तरीय टीम को 1-0 से हराया। तुर्की को 3 गोल से मात दी। इसके अलावा भी कई टीमों का हराकर अपनी प्रतिभा दर्शाई। वहीं एक दोस्ताना मुकाबले में घाना को 2-2 की बराबरी पर रोका। इससे स्पष्ट है कि आइसलैंड मामूली टीम समझना बड़ी टीमों को भारी पड़ सकता है। अधिक ठंड होने के कारण आइसलैंड के फुटबॉलर खेल का अभ्यास इंडेार स्टेडियम में करता है।

यूरोपीय चैंपियनशिप में पहली बार में ही क्वार्टर फाइनल तक पहुंचा
आइसलैंड की टीम यूरोपीय फुटबॉल चैंपियनशिप में पहली बार 2016 में क्वालीफाई कर पाई। पहली बार में ही इस टीम ने क्वार्टर फाइनल में अपनी जगह पक्की की। इसी तरह विश्वकप फुटबॉल में भी टीम पहली बार खेल रही है।

यूरोपीय चैंपियनशिप में टीम की स्थिति :
मैच खेले : 10, जीते : 6, ड्रॉ : 2, हारे : 2,

विश्वकप क्वालीफाइंग में टीम की स्थिति :
मैच खेले :10, जीते : 7, ड्रॉ : 1, हार : 2

चार साल में 100 से अधिक पायदान आगे निकली टीम
आइसलैंड की टीम के बेहतरीन प्रदर्शन का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि जिस टीम की रैंकिंग 2012 में 131 थी। 2018 मार्च में 18वें स्थान पर आ गई। लिहाजा वह चार वर्षों में 113 पायदान आगे बढ़ी। वर्तमान में इस देश की फीफा रैंकिंग 22 है।

Leave a Reply