चार बार के फाइनलिस्ट स्पेन की झोली फिर रही खाली, इंग्लैंड बना विश्व विजेता

दिल्ली। खेलरत्न, सं, Time, 11:30, PM.
अंडर-17 विश्वकप फुटबॉल के फाइनल में चार बार पहुंचने के बाद भी स्पेन खाली हाथ रहा। इंग्लैंड के खिलाफ शनिवार को हुए फाइनल में उसे उपविजेता बनकर ही संतोष करना पड़ा। कोलकाता के साल्टलेक स्टेडियम में खेले गए फाइनल में इंग्लैंड ने स्पेन को 5-2 से हराकर विश्वकप का पहला खिताब अपने नाम किया। अब तक के विश्व कप फाइनल में स्पेन की यह सबसे बड़ी हार है।

world cup f
गोल करने के बाद खुशी का इजहार करता इंग्लैंड का खिलाड़ी

स्पेन ने पहला गोल 10वें और दूसरा 31वें मिनट में किया। 2-0 गोल की शानदार बढ़त को देखते हुए ऐसा लग रहा था कि इस बार स्पेन विश्व विजेता बनने में कोई कसर नहीं छोड़ेगा, लेकिन बाजी पलटने में ज्यादा समय नहीं लगा। इंग्लैंड ने ब्रेवेस्टर ने 44वें मिनट में गोल दागकर अंतर को 2-1 कर दिया। इसके बाद इंग्लैंड ने वापस मुड़कर नहीं देखा। 58वें मिनट में गिब्स ने गोल कर टीम को 2-2 की बराबरी दिलाई। अब इंग्लैंड की टीम पूरे उत्साह में थी। फोडेन ने 69वें और 88वें मिनट में गोल कर 4-2 की अच्छी बढ़त बना ली। 84वें मिनट में गोल कर टीम ने बड़े अंतर से स्पेन को हरा खिताब पर कब्जा कर लिया। इंग्लैंड ने अपना विश्वकप 2007 में खेला। 2011 से इस टूर्नामेंट का लगातार हिस्सा है।

 

विश्वकप फुटबॉल में स्पेन और इंग्लैंड प्रदर्शन :
2017 : इंग्लैंड ने स्पेन को 5-2 से हराकर विश्वकप अंडर-17 का पहला खिताब जीता

2017: इस विश्वकप को लेकर स्पेन 4 बार फाइनल में पहुंचा, लेकिन खिताब से दूर रहा

1991 : इटली में हुए इस विश्वकप में स्पेन को घाना के हाथों फाइनल में 1-0 से पराजय झेलनी पड़ी।

1997 : स्पेन की टीम को तीसरा स्थान मिला

2003 : इस विश्वकप के फाइनल में स्पेन ब्राजील से 1-0 से हारकर उपविजेता बना

2007 : फाइनल में नाइजीरिया और स्पेन का स्कोर मैच के निर्धारित समय तक 0-0 रहा। पेनाल्टी में स्पेन को 3-0 से हार का सामना करना पड़ा।

2007 : पहली बार इंग्लैंड अंडर-17 के विश्वकप के लिए क्वालीफाई किया। पांचवां स्थान मिला।

2009 : स्पेन को तीसरा स्थान मिला

2011 : इंग्लैंड ने इस विश्वकप में सातवां स्थान प्राप्त किया

2015 : इंग्लैंड इस विश्वकप में संतोषजनक प्रदर्शन नहीं कर सका।

 

Leave a Reply