मोनू-जोगिंदर के उम्दा खेल से एचीवर्स ने दिल्ली जल बोर्ड को 137 रनों से रौंदा

नोएडा। खेलरत्न, संवाददाता : Time, 3:00, PM.
कैप्टन शशिकांत मेमोरियल क्रिकेट टूर्नामेंट के उद्घाटन मुकाबले में एचीवर्स क्रिकेट एकेडमी ने दिल्ली जल बोर्ड को 137 रनों से रौंद दिया। नोएडा स्टेडियम में खेले गए उद्घाटन मुकाबले में
एचीवर्स के मोनू शुक्ला ने गेंदबाजी में जौहर दिखाते हुए दिल्ली जल बोर्ड के पांच बल्लेबाजों के विकेट उखाड़े। वहीं 48 रनों का महत्वपूर्ण योगदान दिया।जोगिंदर ने 48 गेंदों पर 81 रनों की झन्नाटेदार पारी खेली। हरफनमौला प्रदर्शन पर मोनू को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया। इससे पहले गौतमबुद्धनगर के पूर्व जिलाधिकारी एनपी सिंह, जिला क्रिकेट डेवलपमेंट कमेटी के केएल तेजवानी, उत्कर्ष चंद्रा, कैप्टन शशिकांत के पिता सेवानिवृत फ्लाइट लेफ्टिनेंट जेपी शर्मा, मां सुदेश शर्मा सहित कई लोगों ने शहीद की तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

पहले बल्लेबाजी करते हुए एचीवर्स क्रिकेट एकेडमी के बल्लेबाजों ने 206 रन बनाए। जोगिंदर ने ताबड़तोड़ 81 रनों की पारी खेली। मोनू शुक्ला ने 48 और दिनेश ने 42 रनों की अच्छी पारी खेली। वहीं दिल्ली जल बोर्ड के नरेश यादव ने दो और त्रिखा ने एक विकेट झटका। लक्ष्य का पीछा करने उतरी दिल्ली जल बोर्ड की टीम 69 रन ही बना सकी। मोनू शुक्ला की गेंदबाजी के सामने दिल्ली जल बोर्ड के बल्लेबाजों ने घुटने टेक दिए। उन्होंने 28 रन देकर पांच विकेट अपनी झोली में डाले। विष्णु और अभय चौहान ने दो-दो विकेट लिए। प्रतियोगिता में दिल्ली एनसीआर की आठ टीमें भाग ले रही हैं। खिताबी मुकाबला 16 अक्टूबर को खेला जाएगा। कोरोना महामारी के कारण इस बार प्रतियोगिता ओपन वर्ग में खेली जा रही है। आयोजकों ने कोरोना प्रोटोकॉल के तहत सभी एहतियात बरतने के निर्देश टीम प्रबंधन और खिलाड़ियों को दी है।
इस मौके पर मानव सेवा समिति के यूके भारद्वाज, कैप्टन शशिकांत शर्मा के भाई डॉ. नरेश शर्मा, डॉ. संगीता शर्मा, वरिष्ठ क्रिकेट प्रशिक्षक सुभाष शर्मा सहित कई लोग मौजूद रहे।

जिला प्रशासन को सूचना दे और एहतियात बरतकर करें आयोजन
डीएम सुहास एलवाई
ने बताया कि खेल से संबंधित किसी भी आयोजन से पहले जिला प्रशासन से इसकी अनुमति लें। एहतियात बरतें और कोविड 19 के निर्धारित प्रोटोकॉल को फॉलो करते हुए खेल का आयोजन कराएं। ऐसा नहीं होने की स्थिति में कार्रवाई हो सकती है, क्योंकि वर्तमान में कोरोना संक्रमण का खतरा किसी को भी हो सकता है। इसलिए एहतियात बरतनी जरुरी है। खासकर खेल के आयोजन को लेकर आयोजकों को सख्ती से नियम पालन करना चाहिए। ताकि किसी भी खिलाड़ी को कोरोना का संक्रमण न हो। कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकना हमारी प्राथमिकताओं में है। किसी भी प्रकार की लापरवाही से समझौता नहीं किया जा सकता।

Leave a Reply

Exit mobile version