दूसरे विश्वकप में एक भी मैच नहीं हारा सोवियत यूनियन

1987 अंडर-16 फुटबॉल विश्वकप (दूसरी किस्त):

 दिल्ली। खेलरत्न, सं, Time, 10:15, PM.
दूसरे अंडर-16 विश्वकप फुटबॉल (1987)की विजेता सोवियत यूनियन की टीम प्रतियोगिता में अजेय रही। यही कारण है कि कनाडा में हुए इस विश्वकप की विजेता टीम भी यही रही। नाइजीरिया ने जरुर इस टीम को जोरदार टक्कर दी, लेकिन खिताबी मुकाबले में उसे भी इस टीम के सामने नतमस्तक होना पड़ा। पहले विश्वकप का विजेता नाइजीरिया को इस बार दूसरे स्थान से संतोष करना पड़ा था। रोमांचक मुकाबले में पूरे समय तक कोई गोल नहीं हुआ। ऐसे में पेनाल्टी से इस मुकाबले का परिणाम निकला।

सोवियत यूनियन का पहला मुकाबला पिछले विजेता नाइजीरिया से था। नाइजीरिया ने ग्रुप मुकाबले में अपनी ताकत भी दिखाई। मैच 1-1 से ड्रॉ रहा और दोनों टीमों ने 1-1 अंक बांट लिए। इसके बाद सोवियत यूनियन की टीम ने मेक्सिको पर 7-0 से जोरदार जीत हासिल कर अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया। ग्रुप स्टेज के आखिरी मुकाबले में बोलिविया को 4-2 से हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। क्वार्टर फाइनल में फ्रांस, सेमीफाइनल में आइवरीकोस्ट को हराकर खुद को खिताबी मुकाबले के लिए तैयार किया। अब फाइनल मैच नाइजीरिया से होना था, जिससे सोवियत यूनियन ग्रुप स्टेज में ड्रॉ खेल चुका था। फाइनल में भी दोनों के बीच कांटे की टक्कर हुई। ग्रुप मुकाबले की तरह ही फाइनल में भी दोनों टीमों ने 1-1 गोल किया। अब परिणाम के लिए पेनाल्टी का सहारा लिया गया। इसमें सोवियत यूनियन ने 4-2 से जीत दर्ज कर अपना पहला खिताब हासिल किया।

ब्राजील के लिए बेहद निराशाजनक रहा यह विश्वकप
पहले अंडर-16 विश्वकप में तीसरा स्थान हासिल करने वाली ब्राजील टीम के लिए यह विश्व कप किसी भयानक सपने जैसा था। ब्राजील ग्रुप स्टेज के तीन मुकाबलों में एक भी नहीं जीत पाया और यहीं से प्रतियोगिता से बाहर हो गया। टीम को एक में हार और दो में ड्रा से संतोष करना पड़ा।

1987 विश्व कप से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य :
-कनाडा के 4 शहरों में खेले गए 32 मुकाबले
-पूरी प्रतियोगिता में 82 गोल हुए
-प्रत्येक मैच औसतन 2.56 गोल हुए
-1 लाख 70 हजार लोगों ने विश्वकप के मुकाबले देखे
-प्रत्येक मैच 5286 दर्शकों ने मैच का लुत्फ लिया
-प्रतियोगिता में 16 टीमों ने भाग लिया
-नाइजीरिया उपविजेता, आइवरीकोस्ट को तीसरा स्थान और इटली चौथे स्थान पर रहा

Leave a Reply