‘बेबी लीग से सुधरेगा भारत का फुटबॉल’

नोएडा। खेलरत्न, सं, Time, 11:00, PM.
भविष्य में भारतीय फुटबॉल को सुधारने के लिए बेबी लीग सहारा बन सकता है। फुटबॉल के अंतरराष्ट्रीय जानकर फुटबॉल को बेहतर करने के लिए इसकी सलाह भी दे रहे हैं। एमिटी विश्वविद्यालय में बुधवार से शुरू हुए अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल प्रशिक्षण सम्मेलन में फुटबॉल के कई दिग्गजों ने फुटबॉल पर अपनी राय दी। इसमें भारतीय फुटबॉल में सुधार के लिए अपनाए जाने वाले उपायों के बारे में भी चर्चा हुई। यह आयोजन एमिटी विश्वविद्यालय, भारतीय फुटबॉल महासंघ और भारतीय खेल प्राधिकरण मिलकर कर रहा है।

अंतरराष्ट्रीय प्रशिक्षण सम्मेलन में पूर्व अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी रेनेडी सिंह

यूथ फेडरेशन एआईएफएफ के अध्यक्ष रिचर्ड हूड ने कहा कि बेबी लीग से ही भारत में फुटबॉल को बढ़ावा मिलेगा। इसके साथ ही खेल में सुधार के लिए भी यह जरुरी है। यह दक्षिण अमेरिका की परिकल्पना है। स्कूल, क्लबों के स्तर में खेल का सुधार करना होगा। जिससे खेल को बेहतर किया जा सकता है। पांच वर्ष की बच्चों की उम्र से ही इस खेल की ओर रुझान बढ़ाना होगा। उन्हें प्रोस्ताहित कर खेल को आगे लाया जा सकता है। भारत अब भी अन्य देशों के मुकाबले में इस खेल में पांच साल पीछे है। एक साल में 40 सप्ताह फुटबॉल खेलकर ही हम आगे बढ़ सकते हैं। पूर्व अंतरराष्ट्रीय फुटबॉलर रेनेडी सिंह ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार फुटबॉल में भारत पीछे है। धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। भविष्य में हम और भी बेहतर होंगे। एआईएफएफ के तनीकी निदेशक स्कोर्ट डोनेल ने भी बेबी लीग को खेल के सुधार में सकारात्मक कदम बताया। उन्होंने कहा कि 5 वर्ष की उम्र से बच्चों के खेल में शामिल होने से भविष्य में सकारात्मक परिवर्तन देखने को मिलेगा। साथ ही खेल को देश की संस्कृति का हिस्सा बनाना चाहिए। कार्यक्रम में एमिटी विश्वविद्यालय उत्तर प्रदेश की वाइस चांसलर बलविंदर शुक्ला, एमिटी फिजिकल एजुकेशन की प्रमुख कल्पना शर्मा सहित कई लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply