चार मैच में 6 गोल दाग कर विश्वभारती के लिए अंशुल बने बेशकीमती

खेलरत्न, सप्ताह का खिलाड़ी : स्थानीय : अंशुल ध्यानी
स्कूल : विश्वभारती स्कूल, 11वीं का छात्र
निवास : सेक्टर-34

पोजिशन : लेफ्ट विंग फॉरवर्ड

खेल : फुटबॉल

इसलिए बने खेलरत्न सप्ताह के खिलाड़ी : एसी देब अंतर स्कूल फुटबॉल प्रतियोगिता में छह गोल दागकर गोल्डन बूट का खिताब जीता
मजबूती : ग्राउंड पर तेजी, ड्रिबलिंग, गोल शूट
कमजोरी : स्टेमिना में कमी, दूसरे खिलाड़ियों को शरीर से रोक पाने में परेशानी

अंशुल ध्यानी

नोएडा। खेलरत्न, सं, Time, 11:50, PM.
एसी देब मेमोरियल अंतर स्कूल फुटबॉल टूर्नामेंट में विश्वभारती स्कूल को उपविजेता बनाने में अंशुल का महत्वपूर्ण योगदान रहा। उन्होंने 4 मुकाबलों में 6 गोल दागकर टीम को खिताबी मुकाबले तक ले गए। इस प्रतियोगिता में वह सबसे अधिक गोल करने वाले खिलाड़ी बने। उन्हें गोल्डन बूट के अवार्ड से नवाजा गया। इससे पहले भी वह कई प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन कर चुके हैं। इसलिए उन्हें खेलरत्न सप्ताह का खिलाड़ी (स्थानीय )चुना गया है।
विश्वभारती खिताबी मुकाबले में फादर एग्नल से 3-1 से हार गया। टीम की ओर से फाइनल में भी अंशुल ने ही एक गोल किया। दो साल से फुटबॉल खेल रहे अंशुल महज 2 महीने से धीरेंद्र कुमार से पेशेवर प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। उनके खेल को देखते हुए भविष्य में बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है। उनकी बड़ी बहन आयुषि ध्यानी डांस रियलिटी शो में चक धूम धूम में अपनी प्रतिभा दिखा चुकी हैं। वहीं उनके सिविल इंजीनियर पिता राष्ट्रीय स्तर के फुटबॉलर रहे हैं। वह सुब्रतो कप जैसे प्रतिष्ठित फुटबॉल टूर्नामेंट का हिस्सा रहे हैं। एक महीने पहले बाल भारती स्कूल में हुए अंतर स्कूल टूर्नामेंट में भी अंशुल का बेहतर प्रदर्शन रहा।

 

Leave a Reply