एमिटी और पीएनसीए ने जीते अपने मुकाबले

नोएडा। खेलरत्न, सं, Time, 10:00, PM.
डॉ. सत्य पॉल मेमोरियल अंडर-14 क्रिकेट टूर्नामेंट में गुरुवार को प्रवीण नागर क्रिकेट एकेडमी (पीएनसीए) और एमिटी स्कूल पूर्वी दिल्ली ने आसानी से अपने प्रतिद्वंदियों को हराया। एपीजे स्कूल के मैदान पर खेले गए मुकाबले में पीएनसीए ने रमा क्रिकेट एकेडमी दिल्ली और एमिटी ने ग्लोबल इंडियन स्कूल को हराया।

पहले मैच में ग्लोबल इंडियन स्कूल ने बल्लेबाजी करते हुए 117 रन बनाए। करण अरोड़ा ने शानदार 48 रनों की पारी खेली। वहीं नमन ने 15 रन बनाए। एमिटी के राघव ने दो विकेट झटके। लक्ष्य का पीछा करने उतरी एमिटी स्कूल ने बिना विकेट खोए जीत हासिल की। गणेश मुंजाल ने उम्दा अर्धशतकीय 54 रनों की पारी खेली। अंश सिंघल ने 45 रन बनाए।

स्ट्रोक खेलती त्रिशा चौधरी

दूसरे मुकाबले में पीएनसीए ने रमा क्रिकेट एकेडमी दिल्ली को आसानी से हरा दिया। पहले बल्लेबाजी करते हुए रमा क्रिकेट एकेडमी ने नौ विकेट खोकर 100 रन बनाए। मयंक और त्रिशा चौधरी ने शानदार गेंदबाजी करते हुए प्रतिद्वंदी टीम के 4 और 3 बल्लेबाजों को पैवेलियन का रास्ता दिखाया। आरसीए के नैतिक विज ने 36 और नितिन ने 11 रन बनाकर टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। गेंद से बढ़िया प्रदर्शन करने वाली त्रिशा ने बल्लेबाजी में भी दम दिखाया। इस जूनियर महिला खिलाड़ी ने नाबाद 40 रनों की पारी खेलकर टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। रमन ने 21 और रितिक ने 16 रन बनाकर त्रिशा का अच्छा साथ दिया। पीएनसीए ने यह मैच नौ विकेट से जीता। गेंद और बल्ले से शानदार प्रदर्शन करने वाली त्रिशा चौधरी मैन ऑफ द मैच बनीं। वहीं पहले मुकाबले के मैन ऑफ द मैच अर्धशतकीय पारी खेलने वाले गणेश मुंजाल बने।

गेंद और बल्ले से उम्दा प्रदर्शन करने वाली त्रिशा बनीं मैन ऑफ द मैच
गुरुवार को खेले गए लीग मुकाबले में त्रिशा चौधरी ने शानदार प्रदर्शन किया। उनके लिए अहम बात यह रही कि लड़कों के टूर्नामेंट में मैन ऑफ द मैच का तमगा अपने नाम किया। आरसीए दिल्ली के खिलाफ हुए मैच में वह सर्वाधिक रन बनाने वाली खिलाड़ी भी बनीं। नाबाद 40 रन बनाने के साथ ही प्रतिद्वंदी टीम के 3 खिलाड़ियों को आउट किया।

त्रिशा ने अपनी पारी में 5 चौके जड़ते हुए 51 गेंदों पर 40 रनों की नाबाद पारी खेली। इस मैच में दूसरा सर्वाधिक रन आरसीए के नैतिक विज ने 36 बनाए। वहीं गेंदबाजी में इस खिलाड़ी ने 5 ओवरों में 16 रन देक 3 खिलाड़ियों को आउट किया। दो साल पहले खेल विभाग द्वारा आयोजित जिला क्रिकेट प्रतियोगिता में लड़कों की टीम से खेलने की अनुमति तत्कालीन जिलाधकारी एनपी सिंह ने दी थी। इसके बाद त्रिशा लगातार लड़कों की टीम के साथ खेल रही हैं। वह दिल्ली की संभावित जूनियर टीम में भी रह चुकी हैं। त्रिशा ने बताया कि वह बेहतर प्रदर्शन के लिए लगातार कड़ी मेहनत कर रही हैं। इसका सकारात्मक परिणाम भी मिला है। दिल्ली की जूनियर महिला टीम में जगह बनाना उनकी प्राथमिकताओं में है। उनके प्रशिक्षक प्रवीण नागर ने बताया कि इस बार त्रिशा का चयन दिल्ली की टीम में होने की पूरी उम्मीद है। वह बल्लेबाजी के साथ ही गेंदबाजी पर काफी मेहनत कर रही हैं। इसका लाभ उन्हें जरुर मिलेगा।

Leave a Reply